Rashtravad in India - Gandhi's Principles and Movements

UpbeatHafnium avatar
UpbeatHafnium
·
·
Download

Start Quiz

Study Flashcards

11 Questions

दांडी मार्च का संदेश क्या था?

भारतीय लोगों ने अपने स्वतंत्रता के लिए स्वयं उठकर समर्थन किया।

किसकी मांग पर दांडी मार्च का आयोजन किया गया था?

नमक के मुक्ति

कौन-सा आंदोलन हिस्ट्री में महत्वपूर्ण स्थान रखता है?

स्वतंत्रता संग्राम

किसकी मुक्ति की मांग पर दांडी मार्च प्रारंभ हुआ था?

नमक

किसे समर्थन करने के लिए भारतीय लोगों ने दांडी मार्च किया?

स्वतंत्रता

भारत में गांधीजी ने कितने आंदोलन किए थे?

तीन

किस आंदोलन का मुख्य उद्देश्य अंग्रेजों के खिलाफ मिलकर लड़ना था?

खिलाफत आंदोलन

सहयोग आंदोलन की मांग क्या थी?

सामाजिक सहयोग की मांग करना

कहाँ हुआ था 'चंपारण आंदोलन'?

बिहार

'सहयोग आंदोलन' किस संक्रांति में पास किया गया?

स्वराज

'सत्याग्रह' के सिद्धांत किस व्यक्ति से सम्बंधित है?

महात्मा गांधी

Study Notes

इस क्लास में सामाजिक विज्ञान के अध्यापक अमित द्वारा भारत में राष्ट्रवाद के चैप्टर का पहला लेक्चर शुरू होता है। प्रथम विश्व युद्ध के कारणों और भारत पर इसके प्रभाव के बारे में चर्चा की गई है। गांधीजी की सत्याग्रह और अहिंसा के सिद्धांतों पर भी बात की गई है। इसके साथ ही, अफ्रीका में भी गांधीजी ने सत्याग्रह किया और भेदभाव के खिलाफ उनकी सफलता का उल्लेख किया गया है।

  • अमित ने प्रथम विश्व युद्ध के कारणों को समझाया।
  • उन्होंने भारत में इस युद्ध के प्रभाव पर चर्चा की।
  • गांधीजी के सत्याग्रह और अहिंसा के सिद्धांतों का महत्व बताया।
  • अफ्रीका में भी गांधीजी ने सत्याग्रह किया और भेदभाव के खिलाफ लड़ा।

इस पाठ में, अमित ने छात्रों को इन महत्वपूर्ण विषयों पर संक्षेप में जानकारी प्रदान की है। उन्होंने प्रमुख घटनाओं और उनके प्रभावों पर मुख्य ध्यान केंद्रित किया है।- भारत में गांधीजी ने तीन आंदोलन किए: 1917 में चंपारण, 1920 में खिलाफत आंदोलन, और सहयोग आंदोलन।

  • चंपारण आंदोलन बिहार में हुआ, जहां किसानों का विरोध था जिसमें वे 15% की ज़मीन पर नील की खेती करने को मजबूर हो गए।
  • खिलाफत आंदोलन मुस्लिम समुदाय के साथ सहयोग का प्रतीक था, जिसका मुख्य उद्देश्य अंग्रेजों के खिलाफ मिलकर लड़ना था।
  • सहयोग आंदोलन में गांधीजी ने विभाजन के खिलाफ सामाजिक सहयोग की मांग की और राष्ट्रव्यापी आंदोलन की शुरुआत की।
  • गांधीजी ने स्वराज पुस्तक में अंग्रेजों के गुलाम होने का विरोध किया और सहयोग से उनके समर्थन को हटाने का प्रस्ताव रखा।
  • सहयोग आंदोलन को कलकत्ता सेशन में पास किया गया, और अलग-अलग उपाधियों की वापसी की मांग की गई।- भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान, गांधीजी ने दांडी मार्च का आयोजन किया।
  • दांडी मार्च 1930 में आरम्भ हुआ था, जिसमें गांधीजी ने नमक कानून के खिलाफ आंदोलन शुरू किया।
  • उन्होंने अंग्रेजों को नमक कर बेचने की मुक्ति की मांग की थी, जिससे उन्होंने सामाजिक और राजनीतिक आंदोलन की महत्वपूर्ण धारा प्रारंभ की।
  • दांडी मार्च का महत्वपूर्ण संदेश था कि भारतीय लोग अपने स्वतंत्रता के लिए स्वयं उठे और समर्थन किया।
  • यह आंदोलन भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महत्वपूर्ण पलों में से एक था, जो भारतीय इतिहास में अद्वितीय स्थान रखता है।

This quiz covers the first chapter on nationalism in India taught by Amit in the social science class. It discusses the causes of World War I, its impact on India, Gandhi's principles of satyagraha and non-violence, and his successful movements in Africa against discrimination. The quiz focuses on key events and their significance regarding India's struggle for independence.

Make Your Own Quizzes and Flashcards

Convert your notes into interactive study material.

Get started for free

More Quizzes Like This

Use Quizgecko on...
Browser
Browser